मंगलवार, 2 जुलाई 2013

कुछ अनछुए पहलू!

तन्हाइयों में घिरा कुछ सुकून की तलाश में
सोचा इक खामोश सा कमरा ढूंढ लूं मकान में
खुशकिस्मती से इक कोठरी मिली जिसे खोला तो देखा
उसमें मेरे बचपन का हर लम्हा बिखरा हुआ है
ये लम्हे अब मेरी तन्हाइयों के हमसफ़र हैं
जिन्हें ना जाने कब से किस किस हवा ने छुआ है
जब समेटने लगा मेरी लिखी कुछ नज्मों की परतें
पाया हर एक पुलिंदा दूसरे से चिपका सा हुआ है
मानो कह रहा हो जुदाई के डर  से वो मुझ से
ना कर अलग साँसों का रिश्ता जुड़ा हुआ है
सोचा था ये पन्ने मेरी हाजत-रवाई(१) करेंगे
पर इन्होने तो वादा-ए-वफाई किया हुआ है
काश हम भी इन पुराने कतरों नुमाँ (२) होते
जो रवायत (३) समझ खुदा ना बनाते बनाते खुद को
अफ़सोस बड़ी देर लगी ये हकीकत समझने में
की क्या खुदा भी कभी किसी एक का हुआ है

शब्दार्थ : (१) एक दूसरे को समझना (२) की तरह (३) परंपरा

16 टिप्‍पणियां:

  1. क्या बात है, बहुत सुंदर
    बहुत सुंदर

    उत्तराखंड त्रासदी : TVस्टेशन ब्लाग पर जरूर पढ़िए " जल समाधि दो ऐसे मुख्यमंत्री को"
    http://tvstationlive.blogspot.in/2013/07/blog-post_1.html?showComment=1372748900818#c4686152787921745134

    उत्तर देंहटाएं
  2. वाह . बहुत उम्दा,सुन्दर व् सार्थक प्रस्तुति
    कभी यहाँ भी पधारें और लेखन भाने पर अनुसरण अथवा टिपण्णी के रूप में स्नेह प्रकट करने की कृपा करें |
    http://madan-saxena.blogspot.in/
    http://mmsaxena.blogspot.in/
    http://madanmohansaxena.blogspot.in/
    http://mmsaxena69.blogspot.in/

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत बढ़िया ग़ज़ल पेश की है आपने।
    --
    लिखते रहिए!
    हम पढ़ते रहेंगे।।

    उत्तर देंहटाएं
  4. पर इन्ही यादों के सहारे की जरूरत भी होती है ...
    लाजवाब नज़्म है ...

    उत्तर देंहटाएं
  5. ये लम्हे ही तो ज़िन्दा रखते हैं...
    बहुत सुन्दर रचना..

    उत्तर देंहटाएं
  6. बहुत सुन्दर ..कितना कुछ कह दिया ... शब्दों में.

    उत्तर देंहटाएं
  7. वाह...
    मुझे मेरा लगता है खुदा...तुझे तेरा लगता होगा....
    बेहद खूबसूरत...

    अनु

    उत्तर देंहटाएं
  8. भावपूर्ण प्रस्तुति...बहुत बहुत बधाई...

    उत्तर देंहटाएं
  9. काश हम भी इन पुराने कतरों नुमाँ होते .....

    बहुत खूबसूरत रचना...मन को गहरे तक छूने वाली....

    उत्तर देंहटाएं
  10. बहुत उम्दा प्रस्तुति...बहुत बहुत बधाई...

    उत्तर देंहटाएं