रविवार, 28 फ़रवरी 2010

होली पे कुछ ख़ास!



कृपया तस्वीर पर क्लिक करें!


धन्यवाद!

13 टिप्‍पणियां:

  1. होली की हार्दिक शुभकामनायें !

    उत्तर देंहटाएं
  2. आपको तथा आपके परिवार को होली की शुभकामनाएँ.nice

    उत्तर देंहटाएं
  3. होली पर ये गजल खास तोहफा है!
    रंगों के पर्व होली की शुभकामनाएँ!

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत अच्छा । बहुत सुंदर प्रयास है। जारी रखिये ।

    हिंदी को आप जैसे ब्लागरों की ही जरूरत है ।


    अगर आप हिंदी साहित्य की दुर्लभ पुस्तकें जैसे उपन्यास, कहानी-संग्रह, कविता-संग्रह, निबंध इत्यादि डाउनलोड करना चाहते है तो कृपया इस ब्लॉग पर पधारें । इसका पता है :

    http://Kitabghar.tk

    उत्तर देंहटाएं
  5. एकदम रोमांटिक है सुरेंदर भाई,
    हमे तोहार गजलवा बहुतेह पसंद आयी!

    उत्तर देंहटाएं
  6. तेरे हाथों रंग में डूब के ही,

    अपने जीवन की उमंग लूं मैं!
    वाह होली की हार्दिक शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  7. Surender Ji,
    HOLI KI SHUBH KAAMNAYEIN...
    HOLI PER LIKHI IS GHAZAL KE LIYE BADHAAYI .....
    तेरे प्यार की झरती फुहारों से,
    बस आज भिगो अंग अंग लूं मैं,
    गालों पे लगा के गुलाल तेरे,
    महकी महकी सी तरंग लूं मैं,

    SURINDER RATTI

    उत्तर देंहटाएं
  8. Hello :)

    Like always, written it very well...!
    The concept is good... adding romance to every composition is an art which you can always do beautifully with your words!

    Last but not the the least, Happpppy Holi to you and your family :)

    Regards,
    Dimple
    http://poemshub.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  9. और तू संग हो तो
    जीवन का तरंग पी लू मै
    तेरे ही रंग नैनो को रंग लू मै !

    उत्तर देंहटाएं
  10. shukria,
    wah, tasveer aur shubhkamnaoon ka tareeqa ati sunder hain.

    उत्तर देंहटाएं
  11. Bahut achi aur pyari composition hai,
    ek dum pyar ke rangon se bhari hui.
    Full of Real Holi Colours :-)

    उत्तर देंहटाएं