मंगलवार, 11 अगस्त 2009

कुछ दिन और बरसे!

शोखी से वो सज संवर के निकले हैं घर से,
सुकून मिला इन आखों को जो कब से तरसे,
पलकें झुकायें मौसीकी में चले जाते हैं वो,
खुदाया एक बार देख लें मुहब्बत की नज़र से,
जुल्फों के घने लच्छे लहराए कुछ इस तरह,
बेशर्म होके दुपट्टा भी उड़ गया हो सर से,
दुआ करू वो आए और लग जाए गले से,
किसी और नही कम से कम बिजली के डर से,
ना जाने दूँ उसे मैं दूर इन आगोशियों से,
खुदा बादल से कह दो के कुछ दिन और बरसे!

14 टिप्‍पणियां:

  1. प्रेम की बे-बाक अभिव्यक्ति बहुत खूबसूरत है..
    एक बार फिर छंद में पिरोई गयी अतिसुन्दर कविता..
    आपके लिए मंगल कामना करते हैं ..

    उत्तर देंहटाएं
  2. is baar aapke shabdo ne aapki bhaawnaao ka poora saath nibhaya hai..
    shayad isliye kavita mein humne kuch alag hi nikhaar paaya hai..

    -Sheena

    उत्तर देंहटाएं
  3. Hi,
    Very nicely written. Delicate words expressed it all!
    Regards,
    Dimple
    http://poemshub.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  4. bahut khoob...khoob barse barkha raanee...!Sur aur laybddhtaa itnee sundar,ki,gungunate hue padhtee gayee...!

    उत्तर देंहटाएं
  5. Khuda badal se kahe ki kuch din aur barase aapke sath hamaree bhee yahee dua hai.

    उत्तर देंहटाएं
  6. ना जाने दूँ उसे मैं दूर इन आगोशियों से,
    खुदा बादल से कह दो के कुछ दिन और बरसे!

    बेहद खूबसूरत भाव।
    बधाई।

    उत्तर देंहटाएं
  7. पलकें झुकायें मौसीकी में चले जाते हैं वो,
    खुदाया एक बार देख लें मुहब्बत की नज़र से
    ...............................
    ना जाने दूँ उसे मैं दूर इन आगोशियों से,
    खुदा बादल से कह दो के कुछ दिन और बरसे!

    bahut achi panktiyan hain sir!
    apki composition ne to mano jaise pura chitran hi kar diya ho...
    kash ki wo fir ghar se niklen..
    aur fir yeh badal barsen...
    apne neno se kahe do thora sabr rakhne ko...
    jo unke didar ko itna tarsen...

    waise humen to intzaar hai in badlo ke barasne ka..
    shayad apki yeh dil se likhi composition hi kuch kar jaye...:)

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहुत खूब ..बहुत बढ़िया लिखते हैं आप

    उत्तर देंहटाएं
  9. बहुत ही सुंदर भाव और अभिव्यक्ति के साथ लिखी हुई आपकी ये ख़ूबसूरत रचना बहुत पसंद आया!

    उत्तर देंहटाएं